गरीब लड़का और भगवान बुद्ध

25 Jun 2021

एक ग़रीब लड़का हर रोज खाने के लिए भटकता था और कही ना कही से खाना इक्कठा करता था| पर हर रोज उसका खाना गायब हो जाता था| एक दिन देखा की एक चूहा उसका खाना चुराता है| तो उसने उस चूहे को पकड़ लिया| उसने चूहे से कहा मै इतना ग़रीब हू फिर भी तू मेरा खाना चुराता है| तो चूहे ने कहा तेरी किस्मत मै कुछ ही चीज़े लिखी है वही मिलेगा| भले तू कितनी ही कोशिश करले भले तू कितना भी इक्कठा करले उसे अपने पास नही रख सकता| लड़का बहुत शॉक हुआ की ऐसा कैसे हो सकता है| तो चूहे ने कहा की अगर तुझे जानना ही है कि तेरी किस्मत मे क्या लिखा है तो भगवान बुध्द के पास जाना पड़ेगा वही तुम्हे बता सकते है की तुम्हारे किस्मत मै क्या है|
     
वह लड़का भगवान बुद्ध से मिलने के लिए गया| उसे चलते चलते बहुत रात हो गई थी इसलिए रास्ते मे उसने एक हवेली देखी और उस घरवाले से एक रात रहने के लिए इजाज़त माँगी उसे इजाज़त मिल गयी| हवेलीवालोने लड़के से पूछा की वो रात को कहा जा रहा है तो उसने कहा की मैं बुद्ध के पास जा रहा हू | तो हवेलीवालो ने कहा की तुम भगवान बुद्ध से हमारा सवाल भी पुछोगे? हमारी एक 23 साल की लड़की है जो बोल नही सकती उसकी आवाज़ कैसे आए| उस लड़के ने कहा ज़रूर पूछुंगा| सुबह वहा से निकल पड़ा| 

 रास्ते मे बहुत बड़े बड़े बर्फ के पहाड़ थे| वह बहुत मुश्किल से पहाड़ पर चढ़ा उसे वहा एक जादूगर मिला उसने लड़के से पूछा की वह कहा जा रहा है| तो उसने कहा की भगवान बुद्ध के पास जा रहा हू| तो जादूगर ने कहा की क्या तुम भगवान बुद्ध से मेरा यह सवाल पुछोगे मैं हजारों सालों से तपस्या कर रहा हू ताकि मैं स्वर्ग जा सकु और अब तक तो तुझे स्वर्ग मे चले जाना चाहिए था| तो मैं स्वर्ग मे जाने के लिए क्या करू? लड़के ने कहा की ठीक है | उस जादूगर के पास एक छड़ी थी उस छड़ी की मदत से उस लड़के को बर्फ के पहाड़ के उस पार पहुचा दिया|

 वहा बहुत बड़ी नदी थी जो वह खुद पार नही कर सकता था| तभी उसकी मुलाकात विशालकाय कछुए से हुई| कछुआ उसे लेकर जाने के लिए तैयार हो गया| फिर कछुए ने भी उसे वही सवाल पूछा तुम कहा जा रहे हो? तो उसने सब बताया तो कछुए ने भी एक सवाल पूछने के लिए कहा| मै 400 सालो से Dragerबनने की कोशिश कर रहा हू पर अभी तक नही बन पाया| तो मै ऐसा क्या करू जिससे मै Dragerबन जाउ| लड़के ने कहा मै आपका सवाल ज़रूर पूछुगा| कछुए ने लड़के को अपनी पीठ पर बिठाया और नदी के उस पार पहुचाया| 

आख़िरकार लड़का भगवान बुद्ध के पास पहुच गया| वहा बहुत सारे लोग थे| बुद्ध ने कहा एक व्यक्ति के केवल 3 सवालो के जवाब दुगा| लड़का एकदम शॉक हो गया| क्यूकी उसे तो ४ सवाल पूछने थे| वह सोचने लगा की उसे कोनसे 3 सवाल पूछने चाहिए| उसने कछुए के बारे मे सोचा की कछुआ 400 सालो से Drager बनने की कोशिश कर रहा है| जादूगर 2000 साल से स्वर्ग जाने के लिए तपस्या कर रहा है|और वह लड़की बिना बोले कैसे पूरी जिंदगी निकल सकती है| फिर खुद के बारे मे सोचा की मे तो सिर्फ़ ग़रीब हू| मै तो माँग कर भी अपनी जिंदगी गुज़ार सकता हू| कछुआ, जादूगर और लड़की की परेशानिया तो मेरी परेशानियो से बहुत बड़ी है| तो लड़के ने उनके ३ सवाल भगवान बुद्ध से पुछे|

बुद्ध ने जवाब दिया की कछुआ 400 सालों से ड्रागेर बनने की कोशिश कर रहा है पर अपने कवच को छोड़ने के लिए तैयार नही है| जब तक वह कवच को नही छोड़ेगा तब तक वह Dragerनही बन पाएगा| वही जादूगर अबतक अपनी छड़ी नही छोड़ेगा तबतक वह स्वर्ग नही जा पाएगा| और जब लड़की को उसका जीवनसाथी मिल नहीं जाएगा तब वह बोल नहीं पाएगी| 

यह सब सुन कर लड़का वापस कछुए के पास आया और उसे सब कुछ बताया तो कछुए ने अपना कवच निकाल दिया| जैसे ही कवच निकाला उसमे से कीमती मोती निकले वह मोती कछुए ने लड़के को दे दिये और वह Dragerबन गया| फिर जादूगर के पास गया और सारी बात बताई तो जादूगर ने अपनी जादू की छड़ी लड़के को दे दी और वह स्वर्ग मे चला गया| उसके बाद लड़का उसी हवेली मे गया जहा उसने रात गुज़री थी| जब वहा गया तो लड़की सामने आई और बोली उस रात हमारे हवेली पर तुम ही आए थे ना? इस तरह लड़के को पैसा, पॉवर और एक खूबसूरत जीवनसाथी मिल गयी|

जीवन मे कुछ पाने के लिए कुछ देना पड़ता है| जब जादूगर ने छड़ी दी तो उसे स्वर्ग मिल गया| वैसे ही जीवन मे कुछ बड़ा करने के लिए अपने सुविधा क्षेत्र से बाहर आना होता है| पानी का जहाज़ सबसे ज्यादा किनारे पर ही होता है पर जहाज़ किनारे के लिए नही बना है| वह बीच समुंदर मे लहरो को चीरते हुए आगे बढ़ने के लिए बना है| इसलिए जीवन मे कुछ बड़ा करने के लिए रिस्क तो लेनी ही पड़ेगी|